Facebook Twitter instagram Youtube
गद-anus-म-दरद-कय-यह-एनल

गुदा (Anus) में दर्द - क्या यह एनल फिशर है या एनल फिस्टुला?

गुदा पाचन तंत्र के अंत में स्थित एक द्वार होता है और यह मलाशय के नीचे से शुरू होता है। यह आपके पाचन तंत्र के संरचना का अंतिम भाग होता है और गुदा की स्थिति का पता लगाने के लिए जिम्मेदार होता है। गुदा से संबंधित समस्याएँ आम होती हैं, और उनके लक्षणों के अनुसार उनका उपचार अलग-अलग होता है। 

 

गुदा की दो सबसे आम स्थितियां हैं एनल फिशर और एनल फिस्टुला। 

 

एनल फिशर बनाम एनल फिस्टुला- क्या अंतर है?

 

गुदा फिशर, जिसे फिशर-इन-एनो भी कहा जाता है, गुदा की परत में एक पतली संकीर्ण दरार (tear) होती है। यह आम तौर पर तब बनती है जब गुदा मांसपेशियों को लगातार अत्यधिक तनाव, जैसे डायरिया या कब्ज, गुदा सेक्स, गुदा कैंसर या वेजिनल डिलीवरी के समय लगातार दबाव, का सामना करना पड़ता है।

 

वही दूसरी और, एनल फिस्टुला एक छोटी सी सुरंग की तरह होती है जो एक संक्रमित कैविटी को गुदा ग्रंथियों के साथ जोड़ती है और ये सामान्यतः पस से भरी होती है। यह आमतौर पर गुदा फोड़े (abscess) से शुरू होता है, जो संक्रमित कैविटी होती है जो गुदा ग्रंथियों के साथ-साथ गुदा को अवरुद्ध करती हैं। मुख्यतः यह स्थिति रेक्टल सर्जरी या कठिन मल त्याग के बाद हो सकती है। 

 

अधिकतर ये दोनों स्थितियाँ एक दूसरे की जगह इस्तेमाल की जाती हैं लेकिन दोनों बहुत अलग स्थितियां होती हैं और उनके लक्षण भी एक दूसरे से अलग होते हैं।

 

एनल फिशर के लक्षण:

  • मल त्याग के दौरान और बाद में दर्द महसूस होना
  • गुदा के चारों ओर की त्वचा में क्रैक या फटे हुए स्थान दिखाई देना 
  • मल में खून आना
  • फिशर के पास छोटे गांठ का होना

एनल फिस्टुला के लक्षण:

  • बार-बार गुदा फोड़े (abscess) बनना 
  • गुदा के आसपास रक्त या पस का निकलना
  • गुदा के निकट त्वचा में खुजली महसूस होना 
  • लगातार थकान, बुखार और सिहरन का एहसास होना 

 

गुदा-संबंधी समस्याओं का निदान और उपचार कैसे किया जाता है?

 

यद्यपि एनल फिशर और एनल फिस्टुला का निदान गुदा की जांच से किया जा सकता है, लेकिन कई बार डॉक्टर आपकी स्थिति के बारे में पूरी तरह से आश्वस्त होने के लिए कुछ स्क्रीनिंग टेस्ट करवाने की सलाह देंगे।

 

एनल फिशर: निदान और उपचार

 

प्राथमिक शारीरिक जांच के द्वारा अधिकांश गुदा फिशर्स का पता लगाया जा सकता है, क्योंकि अधिकांशतः टीयर वाले स्थान आसानी से दिखाई दे जाते हैं। एक नई गुदा फिशर कागज के कट की तरह दिखती है। लेकिन एक पुरानी एनल फिशर एक बड़ी चीरे के जैसे दिखती है, इसके साथ-साथ गुदा में मांस की आंतरिक या बाहरी वृद्धि भी दिखाई देती है।

 

एनल फिशर्स आम तौर पर कुछ हफ्तों के भीतर स्वतः ठीक हो जाती हैं, जिसमें आपको कुछ सावधानियों, जैसे फाइबर और पौष्टिक भोजन का अधिक सेवन और मल को नरम रखने, का ध्यान रखने की जरूरत होती है। डॉक्टर आपको फिशर्स के दर्द को कम करने और दरार को ठीक करने में सहायता के लिए आपको शोच के बाद गर्म पानी में 10-20 मिनट तक बैठने की सलाह दे सकते हैं।

 

यदि आपके लक्षण क्रॉनिक एनल फिशर की ओर संकेत कर रहे हैं, तो डॉक्टर आपको लेटरल इंटरनल स्फिंक्टेरोटॉमी (एलआईएस) सर्जरी करवाने के लिए सलाह दे सकते है। इस प्रक्रिया में डॉक्टर आपके गुदा की स्फींक्टर मांसपेशियों पर एक छोटा सा कट लगाते हैं जो दर्द और ऐंठन से राहत दिलाने में मदद करता है। 

 

एनल फिस्टुला: निदान और उपचार

 

एनल फिस्टुला को डायग्नोस करने के लिए डॉक्टर जिस प्रक्रिया का उपयोग करते है जिसे एनोस्कोपी कहते हैं। इसमें एक विशेष उपकरण का उपयोग किया जाता है जिससे गुदा और मलाशय के अंदर देखा जा सकता है और इसके साथ-साथ गुदा क्षेत्र के उल्ट्रासाउंड या एमआरआई स्कैन की सहायता से और विस्तृत जाँच की जा सकती है। यह प्रक्रिया आपके फिस्टुला के रास्ते की जानकारी पता करने और उपचार निर्धारित करने में सहायता करता है।

 

कोलोन और रेक्टल विशेषज्ञ एनल फिस्टुला के उपचार के लिए आम तौर पर सर्जरी प्रक्रिया की सलाह देते हैं।इसमें आम तौर पर 'फिस्टुलोटोमी' प्रक्रिया का उपयोग किया जाता है, जिसमें फिस्टुला को अंदर-बाहर से पूरी तरह से ठीक करने के लिए फिस्टुला पथ के साथ मांसपेशियों और त्वचा को भी खोला जाता है। यदि आपकी फिस्टुला की संरचना अधिक जटिल है, तो डॉक्टर आपको सेटन लगाने की सलाह दे सकते है, जो एक ड्रेनेज ट्यूब होती है और 6 हफ्ते तक रह सकती है।

 

गुदा-संबंधी समस्याओं का प्रबंधन कैसे किया जाता है?

 

कई जीवनशैली और आहार-संबंधी परिवर्तन दर्द में राहत प्रदान करने में मदद करते हैं, इनमें फाइबर-युक्त आहार का सेवन, पर्याप्त साफ पानी पीना, शोच करते समय ज़ोर लगाने से बचना मुख्य होते है। प्रबंधन का मुख्य उद्देश्य एक बेहतर और स्वस्थ जीवनशैली अपनाना है।

 

यदि आपको गुदा में या उसके आसपास दर्द महसूस हो रहा है, तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर से परामर्श करें। डॉक्टर से अपने लक्षणों और असहजता के बारे में खुलकर बात करें, और यदि आपको यह जानकारी नहीं है कि क्या सवाल पूछे, तो नीचे कुछ सामान्य प्रश्न बताए हैं:

  • क्या स्थिति तत्कालिक या दीर्घकालिक है?
  • मुझे कौन से परीक्षण करवाने की आवश्यकता होगी?
  • इस स्थिति के कारण क्या हैं?
  • आवश्यक आहार-संबंधी परिवर्तन क्या करने चाहिए?
  • इस स्थिति को कैसे रोका जा सकता है?
Medanta Medical Team
Back to top