Facebook Twitter instagram Youtube
समनय-मतर-सबध-समसयए-और-उनक-इलज-कस-कय-ज-सकत-ह

सामान्य मूत्र संबंधी समस्याएँ और उनका इलाज कैसे किया जा सकता हैं

हमारी मूत्र प्रणाली (urinary system) में मूत्रवाहिनी, मूत्राशय, गुर्दे और मूत्रमार्ग शामिल होते हैं, शरीर से अपशिष्ट (वेस्ट ) (को नियंत्रित, प्रबंधित और मूत्र के रूप में शरीर से बाहर निकलते हैं। किडनी से मूत्र को छानने या शरीर से बाहर निकालने से संबंधित कोई भी समस्या के परिणामस्वरूप व्यक्ति में मूत्र संबंधी रोग हो सकते हैं। यूरोलॉजिक डिजीस लिंग या उम्र की परवाह किए बिना किसी को भी प्रभावित कर सकते हैं। पुरुषों में, जननांग प्रणाली में समस्याओं के कारण यौन अक्षमता और बांझपन हो सकता है, जिनका इलाज मूत्र रोग विशेषज्ञ (urologist) द्वारा किया जाता है।

 

आइए छह सबसे आम मूत्र संबंधी समस्याओं और पुरुषों और महिलाओं में इनसे संबंधित उपलब्ध उपचार विकल्पों के बारे में जानकारी प्राप्त करें:

 

बिनाइन प्रोस्टेट एनलार्जमेंट (BPE)

 

जब पुरुषों में प्रोस्टेट ग्रंथि का आकार बढ़ जाता है, तो इससे बिनाइन प्रोस्टेट एनलार्जमेंट (बीपीई) की समस्या हो सकती है। बीपीई के कुछ लक्षणों में बार-बार पेशाब करने की इच्छा, पेशाब करने में कठिनाई, मूत्राशय को पूरी तरह से खाली करने में असमर्थता, और मूत्र की एक कमजोर धारा शामिल हैं। वृद्ध पुरुषों में बिनाइन प्रोस्टेट एनलार्जमेंट एक आम समस्या है। 

 

बीपीएच का इलाज कई कारकों जैसे लक्षणों की गंभीरता, रोगी की आयु और उसके समग्र स्वास्थ्य पर निर्भर करता है। हल्के या मध्यम बीपीई के मामलों में, डॉक्टर अल्फा-ब्लॉकर्स और 5-अल्फा रिडक्टेस इनहिबिटर जैसी दवाएँ लेने की सलाह देते हैं। यदि दवा से लक्षणों में आराम नहीं आता है या रोगी की स्थिति गंभीर है तो डॉक्टर मिनिमल- इनवेसिव और अन्य सर्जिकल प्रक्रियाओं की सलाह देते हैं।

 

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (UTI)

 

महिलाओं में यूटीआई सबसे आम यूरोलॉजिक समस्या है, लेकिन ये पुरुषों में भी हो सकती हैं। यूटीआई का मुख्य कारण बैक्टीरिया संक्रमण होता है और यह आमतौर पर मूत्राशय और मूत्रमार्ग को प्रभावित करता है और कभी-कभी किडनी में भी फैल सकता है। यूटीआई के मुख्य लक्षणों में पेशाब करते समय जलन, पेशाब करने की लगातार इच्छा, क्लाउडी पेशाब, दुर्गंधयुक्त पेशाब, और प्यूबिक क्षेत्र के बीच में और पैल्विक दर्द शामिल हैं।

 

डॉक्टर बीमारी का सटीक आँकलन करने कि लिए आपको यूरिन कल्चर टेस्ट कराने की सलाह दे सकते हैं। अगर इसका इलाज जल्दी कर दिया जाये तो लोअर यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन से व्यक्ति में कोई दुष्परिणाम नहीं होते। हालांकि, अगर इस समस्या को अनुपचारित छोड़ दिया जाता है और यदि मूत्र पथ में बैक्टीरियल संक्रमण किडनी तक पहुँच जाता है, तो रोगी को बुखार और अन्य गंभीर दिक़्क़तें हो सकती हैं। 

 

गुर्दे में पथरी (kidney stone)

 

किडनी में पथरी कई कारणों से बनता है, जिसमें अंतर्निहित अनुवांशिक स्थितियाँ और खानपान में परिवर्तन शामिल हैं। कई बार इसके लक्षण पता नहीं चलते और समस्या के बढ़ने पर ही महसूस होते हैं। कई बार, जब यह पथरी किडनी से मूत्रवाहिनी, किडनी और मूत्राशय को जोड़ने वाली नली, में पहुँचती है, तो यह मूत्र के प्रवाह को रोक सकती है और इसके कारण गंभीर दर्द महसूस हो सकता है। कई बार, बिना किसी चिकित्सकीय सहायता के छोटे पत्थर पेशाब द्वारा अपने आप बाहर निकल जाते हैं, लेकिन जब पथरी बड़ी होती है, तो उन्हें शल्य चिकित्सा द्वारा हटाने की आवश्यकता होती है। आमतौर पर गुर्दे की पथरी को हटाने के लिए र्क्यूटेनियस नेफ्रोलिथोटॉमी, रेट्रोग्रेड इंट्रारेनल सर्जरी और शॉक वेव लिथोट्रिप्सी उपचार विकल्पों का उपयोग किया जाता है, इन प्रक्रियाओं में पथरी को छोटे टुकड़ों में तोड़ने के लिए ऊर्जा का उपयोग होता है।

 

हेमाट्यूरिया

 

पेशाब में खून आने को हेमाट्यूरिया कहा जाता है। हेमाट्यूरिया के अधिकांश कारण गंभीर नहीं होते हैं, पर कई बार मूत्र पथ का कैंसर हेमाट्यूरिया का कारण हो सकता है। मूत्र पथ प्रणाली में किसी भी दोष या असामान्यता के परिणामस्वरूप यह स्थिति उत्पन्न हो सकती है। हेमाट्यूरिया के संभावित कारणों में यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन, किडनी संक्रमण, ब्लैडर या किडनी में पथरी, यौन संचारित बीमारियाँ (STD), पॉलीसिस्टिक रेनल रोग, प्रोस्टेट वृद्धि, किसी भी एंटी-इंफ्लेमेटरी दवाओं या एंटीकोग्यूलेंट के उपयोग, और कई अन्य कारण शामिल होते है।

 

मूत्र में रक्त आना मूत्रमार्ग कैंसर का मुख्य लक्षण होता है, लेकिन पेट में छूने पर दर्द, पेशाब करते समय दर्द, कमजोर पेशाब की धारा आदि लक्षण भी महसूस हो सकते हैं।

 

अधिकांश मामलों में, हेमेचुरिया का उपचार इससे संबंधित कारणों के उपचार से होता है। उदाहरण के लिए, यदि यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन के कारण मूत्र में रक्त रहा है, तो उसे इसका उपचार करने के लिए एंटीबायोटिक्स सुझाए जाते हैं। उसी तरह, यदि यह प्रोस्टेट वृद्धि के कारण है, तो डॉक्टर उपचार और दवाओं की सलाह देते हैं।

 

यूरिनरी इनकंटीनेंस (urinary incontinence)

 

यूरिनरी इनकंटीनेंस भी लक्षणों के आधार पर अलग-अलग प्रकार का हो सकता है। स्ट्रेस इंकोंटिनेंस, कार्यात्मक इंकोंटिनेंस, ओवरफ्लो इंकोंटिनेंस, आदि, ब्लैडर नियंत्रण कम होने के कारण हो सकते है। कुछ मामलों में, डॉक्टर समस्या को सही करने के लिए विभिन्न जीवनशैली परिवर्तनों की सलाह दे सकते हैं, लेकिन अगर यह जीवनशैली या व्यवहारिक परिवर्तनों से हल नहीं होता है, तो इस स्थिति के उपचार के लिए डॉक्टर सर्जरी की सलाह भी दे सकते है।

 

यूरिनरी इनकंटीनेंस के निम्न कारण हो सकते हैं:

  • अतिसक्रिय ब्लैडर
  • प्रोस्टेट में वृद्धि
  • गर्भावस्था या प्रसव
  • मधुमेह
  • ब्लैडर की मांसपेशियों में कमजोरी 
  • मूत्रमार्ग में मौजूद स्फिंक्टर मांसपेशियों के कमजोर हो जाने पर
  • न्यूरोमस्कुलर समस्याएँ
  • ज़्यादा पानी पीना

 

प्रोस्टेट कैंसर

 

प्रोस्टेट कैंसर पुरुषों में सबसे आम कैंसर के प्रकार में से एक है। हालांकि प्रोस्टेट कैंसर के सटीक कारण अभी तक ज्ञात नहीं है, पुरुषों की उम्र बढ़ने के साथ प्रोस्टेट कैंसर के होने का खतरा बढ़ता है और 50 साल की उम्र के बाद होना सबसे आम होता है। प्रोस्टेट कैंसर के प्रारंभिक स्टेज में कोई लक्षण महसूस नहीं हो सकते हैं, लेकिन जब यह एक एडवांस चरण तक पहुंच जाता है, तो व्यक्ति को हड्डी में दर्द, बिना किसी वजह के वजन में कमी, मूत्र करने की फ़ोर्स का कम होना, और यौन क्षमता में दिक्कत के लक्षण महसूस हो सकते हैं।

 

बहुत सारे मामलों में, प्रोस्टेट कैंसर धीरे-धीरे वृद्धि करता है और प्रोस्टेट ग्रंथि तक ही सीमित रहता है। इस प्रकार के स्थितियों में, यह गंभीर हानि नहीं पहुंचाता है, और डॉक्टर केवल सक्रिय निगरानी, अर्थात न्यूनतम उपचार के साथ कैंसर की वृद्धि की निगरानी की सलाह देते हैं। हालांकि, जिन मामलों में प्रोस्टेट कैंसर प्रबल और तेजी से फैलता है, डॉक्टर कैंसर की स्टेज के आधार पर कई उपचार सूझा सकते हैं।

 

मेदांता में यूरोलॉजी देखभाल 

 

मेदांता में विश्व स्तरीय तकनीक और अनुभवी डॉक्टरों की एक विशाल टीम मिलकर सभी प्रकार के मूत्र संबंधी रोगों के लिए नैदानिक ​​​​और विभिन्न उपचार सेवाएँ प्रदान करने में मदद करती है। यदि आप किसी मूत्र संबंधी समस्या का सामना कर रहे हैं, तो आप हमारे शीर्ष मूत्र रोग विशेषज्ञ से सलाह ले सकते हैं।

Medanta Medical Team
Back to top