Facebook Twitter instagram Youtube
महलओ-म-कसर-क-11-लकषण-जन-पर-तरत-धयन-दन-चहए

महिलाओं में कैंसर के 11 लक्षण जिन पर तुरंत ध्यान देना चाहिए

भारत में कैंसर हृदय रोग के बाद दूसरा जान खोने का सबसे बड़ा कारण है। दुनिया की सबसे पुरानी और सबसे प्रतिष्ठित चिकित्सा पत्रिकाओं में से एक लैंसेट ऑन्कोलॉजी द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार भारत में कैंसर की प्रवृत्ति उलटी है, यहाँ पर पुरुषों की तुलना में महिलाओं में कैंसर होने का खतरा अधिक होता है। महिलाओं में स्तन कैंसर सबसे आम कैंसर है, इसके बाद सर्वाइकल और ओवेरियन कैंसर आता है।


शुरुआती अवस्था में ही इलाज करने से कैंसर के खिलाफ लड़ाई जीतने में काफी मदद मिल सकती है। यहां नीचे 11 ऐसे चेतावनी संकेत दिए गए हैं, जिन पर तुरंत ध्यान दिया जाना चाहिए, ये संकेत बहुत देर होने से पहले आपको कैंसर का पता लगाने में सहायता कर सकते हैं।

 

अपने स्तन में कोई भी बदलाव के प्रति सचेत रहें


आप अपने स्तनों की असामान्य गांठ और डिंपल जैसे शारीरिक परिवर्तनों के लिए नियमित रूप से जाँच करने का नियम बना लें। अचानक निप्पल डिस्चार्ज, लाली और स्केलिंग के साथ निप्पल का उल्टा होना (inversion) स्तन कैंसर के चेतावनी लक्षण होते हैं। ये लक्षण दिखते ही तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।


असामान्य खून आना - क्या आपको आपके निर्धारित मासिक अवधि के अलावा रक्तस्राव का अनुभव हो रहा है? तो तुरंत अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ को इस बारे में बताएं। जिन महिलाओं में एंडोमेट्रियल कैंसर होता है उनमें अनियमित रक्तस्राव जैसे लक्षण मुख्य होते हैं, खासकर रजोनिवृत्ति के बाद। एंडोमेट्रियल कैंसर के अन्य लक्षणों में संभोग के दौरान रक्तस्राव और खून मिश्रित योनि स्राव शामिल हो सकते हैं। असामान्य रक्तस्राव भी सर्वाइकल कैंसर का शुरुआती लक्षण है।


त्वचा में बदलाव - मेलेनोमा एक प्रकार का त्वचा का कैंसर है जो आमतौर पर आपके पैरों के आसपास विकसित होता है। अक्सर यह त्वचा पर काले, अनियमित आकार के मस्सों के रूप में प्रकट होता है। त्वचा पर नये ज़ख़्म या कोई नयी संरचना की उपस्थिति का तुरंत पता करने के लिए नियमित रूप से अपनी त्वचा की जांच करने की आदत बनाएं और साथ ही मौजूदा मस्सों के आकार, बनावट, या रंग में बदलाव पर नज़र रखें, क्योंकि वे मेलेनोमा के चेतावनी संकेत हो सकते हैं।


आपके लिम्फ नोड्स में सूजन - कई प्रकार के कैंसर आपके लिम्फ नोड ग्रंथियों में सूजन पैदा कर सकते हैं। लिम्फ नोड्स का मुख्य कार्य आपके शरीर से हानिकारक दूषित पदार्थों को फ़िल्टर करना होता है, और आमतौर पर किसी विशेष संक्रमण की प्रतिक्रिया के रूप में इनमें सूजन आ सकती है। हालांकि, लिम्फ नोड्स ल्यूकेमिया और लिम्फोमा जैसे कैंसर की उपस्थिति में भी सूज सकते हैं। यदि आपको अपनी बाहों, गर्दन और कमर के नीचे के क्षेत्रों में सूजन महसूस होती है, तो अपने चिकित्सक से तुरंत संपर्क करें, खासकर जब यह 3-4 सप्ताह तक कम ना हों।


खाद्य पदार्थ निगलने में दिक़्क़त आना - ख़ाना निगलने में कभी-कभार थोड़ी बहुत दिक़्क़त होना चिंता का विषय नहीं होता है। परंतु लगातार निगलने में दिक़्क़त के साथ अचानक वजन कम होना और बार-बार उल्टी होना गले या पेट के कैंसर का चेतावनी संकेत हो सकता है।


बिना किसी प्रयास के वजन कम होना - क्या आपका वजन बिना किसी प्रयास के कम हो रहा है? आमतौर पर थायरॉयड समस्याएँ और उच्च तनाव और चिंता का स्तर तेज़ी से वजन घटने का कारण हो सकते हैं। इनमें से किसी कारक की अनुपस्थिति में आपको कैंसर जांच कराने पर तुरंत विचार करना चाहिए, क्योंकि ये फेफड़े, पेट और अग्न्याशय के कैंसर के स्पष्ट संकेत हो सकते हैं।


सीने में लगातार जलन का एहसास होना - कभी-कभी भोजन और शराब का अधिक सेवन करने या काम पर जोर देने से व्यक्ति में क्रोनिक हार्टबर्न जैसी समस्याएँ हो सकती हैं। लगातार इन कारकों के संपर्क में आने से यह एक स्थायी समस्या बन सकती है जिसके फलस्वरूप आंतरिक एसोफेजियल आवरण (inner esophageal lining) को गंभीर नुकसान हो सकता है और इसके साथ गले, पेट और अंडाशय के कैंसर के विकास के जोखिम भी बढ़ सकता है।


आपके मुँह में छाले होना - क्या आप धूम्रपान करते हैं? तो अपने होंठों और अपने मुँह के अंदरूनी हिस्सों पर छाले या पैच पर नज़र रखें, क्योंकि ये मुँह के कैंसर के संकेत हो सकते हैं। एक कैंसरयुक्त घाव या एक नियमित अल्सर के बीच अंतर उसके रंग (सफेद, पीला या लाल) और घावों के आकार (आमतौर पर अल्सर के बीच में एक गड्ढा होता है) द्वारा बता सकते हैं। यदि आपके मुँह में ऐसे घाव हैं जो जल्दी से ठीक नहीं हो रहे हो तो तुरंत अपने दंत चिकित्सक या चिकित्सक से परामर्श करें।


पेल्विक क्षेत्र और पेट में दर्द - लगातार काफ़ी दिनों तक पेल्विक दर्द के साथ पेट में तेज दर्द होना डिम्बग्रंथि (ovarian) के कैंसर के लक्षण हो सकते हैं। यह भी ध्यान में रखें कि गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल विकारों के कारण जैसे अपच या मासिक धर्म के दौरान भी आप कभी-कभी पेट में दर्द और सूजन महसूस कर सकते हैं। यदि आपके ये लक्षण कुछ हफ्तों से अधिक समय तक बने रहते हैं तो तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श करें।


मल में रक्त आनाबवासीर या कब्ज जैसी सामान्य घटना समझकर मल में रक्त की उपस्थिति को स्वयं औषधि द्वारा ठीक करने की कोशिश ना करें। ख़ासकर जब आपकी उम्र 50 साल से ऊपर हो। अपने डॉक्टर से इसके बारे में तुरंत परामर्श लें क्योंकि यह आँतों (colon) कैंसर का लक्षण हो सकता है।


लगातार थकान महसूस होना - यह एक दिन के अंत में होने वाली सामान्य काम से संबंधित थकान नहीं है, बल्कि दो सप्ताह या उससे अधिक की अवधि में लगातार सुबह से ही थकान महसूस होना है। अगर आपको ऐसा महसूस हो रहा है तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें और आवश्यक परीक्षण तुरंत करवाएं। ल्यूकेमिया, लिम्फोमा, ओवेरियन कैनर कुछ ऐसे सामान्य कैंसर हैं जो आपकी ऊर्जा के स्तर को कम करते हैं।

 

This blog is a Hindi version of an English-written Blog  - 11 Symptoms of Cancer in Woman That Needs Immediate Attention

 

Medanta Medical Team
Back to top