Facebook Twitter instagram Youtube
आनवशक-और-कसर-कय-क

आनुवंशिकी और कैंसर: क्या कैंसर वंशानुगत हो सकता है?

अधिकतर कैंसर को एक जेनेटिक बीमारी माना जाता है, क्योंकि यह हमारी कोशिकाओं में बिना योजनाबद्ध जीन म्यूटेशन के होने से उत्पन्न होता है। ये परिवर्तन या म्यूटेशन सामान्य कोशिका के डीएनए को मौलिक रूप से बदल सकते हैं और उन्हें मैलीग्नेंट बना सकते हैं।

 

सामान्यतः कोशिका में म्यूटेशन सोमैटिक होते हैं, मतलब कि वे उम्र बढ़ने या कोशिका क्षति जैसी प्रक्रियाओं के कारण होते हैं। हालाँकि, एक्वायर्ड म्यूटेशन का एक ओर समूह मौजूद है जिसे वंशानुगत (Hereditary) म्यूटेशन कहते हैं, जो माता-पिता से विरासत में मिल सकता है और पीढ़ी-दर-पीढ़ी स्थानांतरित हो सकता है। 

 

आइए वंशानुगत कैंसर और जीनस कैंसर के खतरे में कैसे योगदान दे सकते हैं, के बारे में जानकारी प्राप्त करते हैं। 

 

क्या आपको कोई कैंसर विरासत में मिल सकता है?

 

कई अध्ययनों के अनुसार, जीन म्यूटेशन कैंसर के बनने में केवल 5-10% भूमिका ही निभाते हैं। आपके जीन में आमतौर पर कुछ उत्प्रेरकों जैसे सिगरेट के धुएँ, कठोर यूवी सूरज की किरणों और कुछ रासायनिक यौगिकों के साथ क्रिया के कारण होने वाली डीएनए क्षति के कारण म्यूटेशन हो सकता हैं।

 

एक बुरी खबर यह भी है, कि कैंसर 50 से अधिक प्रकार के वंशानुगत जीन म्यूटेशन के कारण हो सकता है, जिनमें से अधिकांश उन जीनों की म्यूटेशनों की वजह से होते हैं जो कोशिका के विकास और डीएनए तंतुओं की मरम्मत के लिए ज़िम्मेदार होते हैं। ऐसे व्यक्ति अपने जीवन के प्रारंभिक वर्षों में कैंसर विकसित करने की प्रवृत्ति रखते हैं और विशिष्ट प्रकार के आनुवंशिक रोगों के प्रति संवेदनशील हो सकते हैं, जिसमें वंशानुगत कोलोरेक्टल कैंसर या लिंच सिंड्रोम (नोन-पॉलीपोसिस) या म्युटेशन वाले बीआरसीए-1 और बीआरसीए-2 जीन के साथ पैदा होने वाले लोग, जिनमें स्तन कैंसर होने का जोखिम अधिक होता है, शामिल हैं। 

 

क्या आप कैंसर की पुष्टि के लिए अपने जीन का परीक्षण कर सकते हैं?

 

आप अपने ऐसे कुछ जीनों के लिए जाँच करवा सकते हैं जिनके कैंसरीय ट्यूमर बनने की संभावना अधिक होती है। हालाँकि, यह ध्यान में रखना महत्वपूर्ण होता है कि किसी आनुवंशिक जीन म्यूटेशन के साथ जन्म लेने का मतलब यह नहीं है कि आपको आपके जीवन में 100% कैंसर होने की संभावना है। बल्कि इससे एक संकेतक के रूप में उपयोग किया जाना चाहिए, जिसके अनुसार आपको यह बीमारी होने की संभावना किसी ऐसे व्यक्ति की तुलना में सामान्य से अधिक है, जिसमें ये आनुवंशिक मार्कर नहीं होते है।

 

यदि आपके पास निम्नलिखित में से कोई भी कारक मौजूद हैं तो आप किसी विश्वसनीय डॉक्टर से आनुवंशिक परामर्श ले सकते हैं

  • किसी कैंसर का पारिवारिक इतिहास 
  • ऐसी बीमारी से पीड़ित हैं जो वंशानुगत आनुवंशिक म्यूटेशन के कारणवश उत्पन्न होती है 
  • परिवार के किसी सदस्य को वंशानुगत आनुवंशिक म्यूटेशन के कारण उत्पन्न होने वाली बीमारी हो 

 

वंशानुगत आनुवंशिक म्यूटेशन की जाँच के लिये आपके बालों, रक्त और अन्य ऊतकों से आपके डीएनए के कुछ नमूने लिए जाते हैं। फिर इन लिए गए नमूनों को एक आनुवंशिक परीक्षण टीम को भेजा जाता है जो कैंसर से संबंधित विशिष्ट मार्कर को खोजने के लिए आपके डीएनए का विश्लेषण करेगी। किसी भी पैटर्न का पता लगाने के लिए आपका डॉक्टर आपसे आपके परिवार के चिकित्सा इतिहास के बारे में कुछ प्रश्न भी पूछ सकता है।

 

This blog is a Hindi version of an English-written Blog - Genetics and Cancer: Can Cancer be Hereditary?

Medanta Medical Team
Back to top