Facebook Twitter instagram Youtube
हड्डी के ट्यूमर का इलाज कैसे किया जाता है?

हड्डी के ट्यूमर का इलाज कैसे किया जाता है?

हड्डी का ट्यूमर क्या होता है?

हड्डी का ट्यूमर तब बनता है जब आपकी हड्डी के अंदर की कोशिकाएँ तेजी से विकसित होने लग जाती हैं और असामान्य ऊतकों के गुच्छों का निर्माण करती हैं। हड्डी का ट्यूमर शरीर में किसी भी हड्डी को प्रभावित कर सकता है, सतह से लेकर हड्डी के मध्यभाग (अस्थि मज्जा) तक। एक विकासशील हड्डी का ट्यूमर, चाहे वह बिनाइन ही हो (जो कैंसर नहीं होते और आपके शरीर के अन्य हिस्सों में भी नहीं फैलते), स्वस्थ ऊतकों को नष्ट कर सकती है और आपकी हड्डियों को कमजोर कर सकती है, जिससे आपको फ्रैक्चर और हड्डी में दर्द जैसी स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है।

 

हड्डी के ट्यूमर के प्रकार


हड्डी के ट्यूमर कई प्रकार के होते हैं। हालांकि, इनमें से अधिकांश बिनाइन होते हैं। हड्डी के ट्यूमर के सबसे आम प्रकार निम्नलिखित होते हैं:

  • मल्टिपल मायलोमा 
  • ओस्टियोसार्कोमा (ओस्टियोजेनिक सरकोमा)
  • कॉन्ड्रोसारकोमा
  • इविंग्स सारकोमा 

 

भारत में हड्डी के ट्यूमर


हड्डी के ट्यूमर दुनिया भर में कैंसरों का कुल प्रतिशत का 0.2% होते हैं। हड्डी के ट्यूमर मुख्यतः दो आयु समूहों को प्रभावित कर सकते हैं और इन्हें प्राथमिक शिखर (peak) आयु (11 वर्ष से 20 वर्ष) और द्वितीय शिखर आयु (51 वर्ष से 60 वर्ष) में बाँटा जाता है। यह कैंसर के बहुत ही दुर्लभ प्रकार के कैंसर में से एक है और यह वार्षिक रूप से 5,000 से भी कम लोगों को प्रभावित करता है।

 

हड्डी के ट्यूमर का कारण क्या होता है?

 

हालाँकि हड्डी के ट्यूमर के सटीक कारणों पर अभी भी शोध किया जा रहा है, लेकिन इसके लिए कई बीमारियों जैसे पेजेट रोग, ली-फ्रामेनी सिंड्रोम और वंशानुगत स्थितियों को जिम्मेदार ठहराया जाता है। 

पेजेट रोग एक दुर्लभ हड्डी रोग है जो समय के साथ आपकी हड्डियों को इस हद तक क्षतिग्रस्त कर देता है कि वे भंगुर और विकृत आकार की हो जाती हैं। 

ली-फ़्रौमेनी सिंड्रोम एक अत्यंत दुर्लभ आनुवंशिक स्थिति होती है जिससे व्यक्ति में सामान्य से अधिक कैंसर विकसित होने की संभावना होती है। 

हड्डी का ट्यूमर 20 वर्ष की आयु तक के लोगों, रेडिएशन थेरेपी से गुजर चुके लोगों, और वंशानुगत रेटिनोब्लास्टोमा (एक प्रकार का नेत्र कैंसर जो मुख्यतः बच्चों को प्रभावित करता है) वाले लोगों और 51 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में भी हो सकता है।

 

हड्डी के ट्यूमर के लक्षण क्या होते हैं?


हड्डी के ट्यूमर के लक्षण व्यक्ति के आयु, ट्यूमर के प्रकार, और इसके स्थान के आधार पर अलग-अलग हो सकते हैं, लेकिन इससे संबंधित कुछ सामान्य लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं:

  • ट्यूमर से प्रभावित क्षेत्र में हल्का दर्द या सूजन, जो रात्रि के समय के साथ बढ़ सकती है।
  • बुखार और रात को पसीना आना 
  • एक चोट, जो ट्यूमर की ओर बढ़ सकती है

 

हड्डी के ट्यूमर का क्या उपचार क्या होता है?

 

अन्य कैंसर की तरह, हड्डी के ट्यूमर का इलाज ट्यूमर के प्रकार, स्थान, और ट्यूमर के स्टेज के आधार पर निश्चित किया जाता है। सबसे सामान्य इलाज विधियां निम्नलिखित हैं:

  • सर्जरी

सर्जिकल प्रक्रिया का मूल लक्ष्य ट्यूमर और उसके चारों और मौजूद कुछ हड्डी के ऊतकों को हटाना है। वे सर्जरी जिनमें अंग या प्रभावित क्षेत्र को काटने की आवश्यकता नहीं होती है, उन्हें अंगरक्षण (लिम्ब-स्पेरिंग) सर्जरी या अंग-सुरक्षण (लिम्ब-सेल्वेज) सर्जरी कहा जाता है।

  • रेडिएशन थेरेपी

रेडिएशन थेरेपी में उच्च-ऊर्जा की एक्स-रे का उपयोग करके कैंसर कोशिकाओं को नष्ट किया जाता है। यह विकिरणें आपकी ट्यूमर कोशिकाओं के अंदर के डीएनए को नुकसान पहुँचाती हैं, और उन्हें बढ़ने या आगे फैलने से रोकती हैं। रेडिएशन थेरेपी निम्न तरीक़े से मदद कर सकती है:

  • कैंसर को पूरी तरह से नष्ट करके आपको ठीक करती है 
  • ट्यूमर के एडवांस चरणों में दर्द को कम करने में सहायक है  
  • यह ट्यूमर को संकुचित कर देती है, ताकि इसे सर्जिकल रूप से निकाला जा सके
  • सर्जरी के बाद बचे हुए कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने में मदद करती है 
  • कीमोथेरेपी

कीमोथेरेपी आपके शरीर में बढ़ती हुई कैंसर कोशिकाओं को नष्ट करने के लिए विभिन्न दवाओं का उपयोग करती है। कीमोथेरेपी निम्न तरीक़े से मदद करती है:

  • रोगी को पूरी तरह से ठीक करना
  • अन्य थेरेपी के साथ मिलकर बेहतर परिणाम प्रदान करना
  • ट्यूमर की फिर से आने को रोकना या धीमा करना 
  • कैंसर कोशिकाओं की गति को धीमा करना
  • कैंसर के एडवांस चरणों के लक्षणों को कम करने में मदद करना

 

कैंसर और कैंसर उपचार का सामना करना काफी कठिन हो सकता है। किसी भी उपचार के लिए विचार करने से पहले अपने डॉक्टर के साथ ईमानदार और खुली बातचीत करें। यदि आपको हड्डी के ट्यूमर होने का पता चला है, तो नीचे कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न हैं जिन्हें आपको अपने डॉक्टर से पूछना चाहिए:

  • आपको किस प्रकार का हड्डी का कैंसर है?
  • क्या यह बिनाइन या मालीग्नेंट ट्यूमर है?
  • आपका ट्यूमर कौन सी स्टेज में है और इस चरण में क्या होता है?
  • सबसे अच्छे उपचार विकल्प क्या हैं?
  • पसंदीदा उपचार विकल्प में शामिल होने वाले जोखिम क्या हैं?
  • आपको किस तरह के दुष्प्रभावों के बारे में चिंता करनी चाहिए?
  • रिकवरी में कितना समय लगेगा और इसकी प्रक्रिया क्या है?
  • उपचार के बाद ट्यूमर फिर से होने की कितनी संभावना हैं?

 

इन सभी बुनियादी सवालों के अलावा, अपने डॉक्टर से वह सब कुछ जाने जिसकी आपको जिज्ञासा हो। हड्डी के ट्यूमर से आपका जीवन किस प्रकार प्रभावित होगा या उपचार की तैयारी के लिए आपको क्या-क्या करना चाहिए, यह सुनिश्चित करें कि आप स्पष्ट बात करें और आवश्यकता पड़ने पर अपने प्रियजनों या देखभालकर्ता से सहायता मांगें।

 

This blog is a Hindi version of an English-written Blog - How Are Bone Tumours Treated?

Medanta Medical Team
Back to top