Facebook Twitter instagram Youtube
बद-नक-stuffy-nose-क-6-मखय-करण

बंद नाक (stuffy nose) के 6 मुख्य कारण

बंद नाक जिसे सामान्यतः स्टफी नोज भी कहते हैं, तब होता है जब आपकी नाक और नाक के आस-पास के ऊतकों और वाहिकाओं में अतिरिक्त तरल पदार्थ भरने से सूजन जाती है। इससे नाकभरे होने” (stuffed) का अनुभव होता है, और यह स्थिति आपके दैनिक जीवन में काफी बाधा उत्पन्न करती है। सामान्यतः, स्टफी नोज किसी भी अंतर्निहित चिकित्सा स्थिति का कारण नहीं होती है और यदि समय पर दवा के साथ इसका इलाज किया जाए, तो इसे नियंत्रित किया जा सकता है।

 

स्टफी नोज होने के 6 मुख्य कारण निम्नलिखित हैं:

 

एलर्जी:

जब एलर्जन (एलर्जी के कारणीय पदार्थ) जैसे परागकण, कीटाणु, धूल या पालतू जानवरों के डैन्डर आपकी नाक में प्रवेश करते हैं, तो यह इर्रिटेशन को ट्रिगर कर सकते हैं। इस स्थिति को एलर्जिक राइनाइटिस कहा जाता है और इससे आपकी नाक की संवेदनशील परत में सूजन जाती है, जिससे स्टफी नोज का अनुभव होता है।

 

नेजल पॉलिप्स: 

नेजल पॉलिप्स, आपकी नाक की अंदरूनी परत और साइनस में मौजूद गैर-कैंसरक वृद्धि होती हैं। आमतौर पर ये एलर्जी के कारण पैदा होती है और इसके लक्षणों में स्टफी नोज, चेहरे में दर्द और स्वाद और गंध महसूस ना होना शामिल होते हैं।

 

साइनस संक्रमण:

साइनस संक्रमण वायरस या बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण होता है और अक्सर लोग इसे एलर्जी या सर्दी-जुकाम और फ्लू समझ लेते हैं। इसके लक्षणों में सिरदर्द, स्वाद ना आना, चेहरे में दर्द, और स्टफी नोज शामिल होते हैं। वायरल संक्रमण आसानी से आपकी नाक मार्ग में इर्रिटेशन और सूजन पैदा कर सकते हैं और नाक में कंजेशन का कारण बन सकते हैं।

 

डेविएटेड सेप्‍टम:

एक डेविएटेड सेप्टम आपके सेप्टम की एक अव्यवस्था या ऑफ-सेंटिंग है, नेजल सेप्टम एक कार्टिलेज होता है जो आपके नथुनों को अलग करता है। इससे साँस लेने में कठिनाई और बंद नाक की समस्याएँ हो सकती हैं। आमतौर पर एक व्यक्ति जन्म से ही डेविएटेड सेप्टम के साथ पैदा होता है, और कुछ मामलों में, यह नाक में चोट लगने के कारण भी हो सकता है। यदि आप नकसीर जैसे लक्षणों का बार-बार अनुभव करते हैं, तो डेविएटेड सेप्टम एक कारण हो सकता है।

 

नेजल डिकंजेस्टेंट का अत्यधिक प्रयोग:

नेजल डिकंजेस्टेंट साइनस संक्रमण के लिए अच्छे होते हैं, लेकिन उनका ज़्यादा उपयोग नहीं करना चाहिए। आपकी नाक की अंदरूनी परत को डिकंजेस्टेंट की आदत हो सकती है और वे अपने दम पर जमाव का इलाज करने की क्षमता खो सकती हैं। इससे परिणामस्वरूप गंभीर और क्रॉनिक कंजेक्शन हो सकता है। 

 

सूखे मौसम के प्रति संवेदनशीलता:

यदि आप सूखे मौसम में रहते हैं या घंटों तक एयर कंडीशनर या डीह्यूमिडीफायर के आस-पास वक्त बिताते हैं, तो आपको बार-बार नेजल कंजेशन की समस्या होती होगी। सूखापन आपकी नाक की ऊतकों में इंफ्लेमेशन करता है, जिससे आपको कंजेशन अनुभव होता है। बढ़ती आयु भी नाक के ऊतकों में सूखापन करने वाला एक कारक है, जो नेजल कंजेशन की समस्या में वृद्धि कर सकता है।

 

नेजल कंजेशन का इलाज कैसे करें?

 

नेजल कंजेशन आपके दैनिक जीवन में परेशानी उत्पन्न कर सकती है। सामान्यतः कुछ घरेलू उपचार द्वारा नेजल कंजेशन में काफ़ी आराम मिल जाता है।

नीचे कुछ नेजल कंजेशन को ठीक करने के शीर्ष 5 घरेलू उपचार बतायें हैं:

  • गर्म शावर लें - गर्म शावर की भाप से आपकी नाक में मौजूद गाढ़े म्यूकस को पतला करने और सूजन को कम करने में मदद करती हैं। इससे आपकी सांस लेने में आसानी होगी और स्थिति की गंभीरता कम होगी।
  • सेलाइन नाक स्प्रे का इस्तेमाल करें: - सेलाइन नेसल स्प्रे आपके नॉस्ट्रिल को नमी प्रदान करने और नाक की जमावट को दूर करने में मदद करेगा। अपनी कंजेशन के लिए उपयुक्त नेसल स्प्रे का चयन करने के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श करें।
  • यूकलिप्टस एसेंशियल तेल का उपयोग करें: - गर्म पानी में कुछ बूँदें यूकलिप्टस एसेंशियल तेल की डालें और इसकी भाप लें। इस एसेंशियल तेल को साँस में लेने से नाक की परत की सूजन कम होती है और सांस लेने में आराम मिलता है।
  • खूब पानी पियें: - हाइड्रेटेड रहना आपकी नाक में म्यूकस को बाहर निकालने और आपके साइनस पर दबाव को कम करने में मदद करता है। इससे आपकी स्टफी नाक में आराम आएगा और आपको बेहतर ढंग से साँस लेने में मदद मिलती है।
  • अपनी साइनस को फ्लश आउट करें: - नेटी पॉट्स उपकरण हैं जो साइनस में जमे तरल प्रवाह को निकालने में आपकी मदद करते हैं। इसमें नमक वाले पानी का प्रयोग किया जाता है जो आपकी साइनस में कंजेशन करने वाले म्यूकस और इरिटेंट्स को साफ करता है। नेटी पॉट्स आसानी से किसी भी फार्मेसी में मिल जाते हैं। इसका उपयोग करने से पहले बताए अनुसार स्वच्छता दिशानिर्देशों का पालन करें।

 

आपको डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए?

 

कभी-कभी, घरेलू उपचार नेसल कंजेशन का इलाज करने के लिए पर्याप्त नहीं होते हैं। यदि आपको निम्नलिखित लक्षण महसूस हो रहे हैं, तो आपको तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए:

 

  • 10 दिन से अधिक कंजेशन की समस्या होना 
  • 3 दिन से अधिक कंजेशन के साथ बुखार रहना 
  • हरी या खून के धब्बों वाला नाक स्राव
  • साइनस क्षेत्र में दर्द और बुखार
  • कमजोर इम्यून सिस्टम, अस्थमा, या एमफिसीमा

 

आपका डॉक्टर आपके नेसल कंजेशन के कारणों का सटीक निदान करके आपको उपयुक्त उपचार की सलाह देते हैं। यदि आपकी स्थिति दवाओं से सही नहीं होती है, तो डॉक्टर आपको सर्जरी की सलाह भी दे सकते हैं।

Medanta Medical Team
Back to top