Facebook Twitter instagram Youtube
इसजनल-हरनय-क-उपचर-क-लए-टरसवरसस-एबडमनस-मसल-रलज-टएआर-परसजर

इंसिजनल हर्निया के उपचार के लिए ट्रांसवर्सस एब्डोमिनिस मसल रिलीज (टीएआर) प्रोसीजर

 

 

 

इंसिजनल हर्निया क्या होता है?

 

इंसिजनल हर्निया को इस प्रकार से समझा जा सकता है कि पेट की दीवार में हुए छेद के माध्यम से इसके नीचे मौजूद अंग उस छेद से बाहर निकल जाते हैं। सभी एब्डोमिनल सर्जरी में इंसिजनल हर्निया के होंने का कुछ ख़तरा होता है। पेट की सर्जरी किए जाने वाले प्रत्येक 3 में से 1 व्यक्ति को इनसीजनल हर्निया होने की संभावना हो सकती है। पेट की सर्जरी के बाद, सर्जिकल चीरे की वजह से एक या एक से अधिक पेट की मांसपेशियों में कमजोरी आने के कारण इंसिजनल हर्निया विकसित हो सकता है। मांसपेशियों की कमजोरी की वजह से मांसपेशियों की परत जो आमतौर पर पेट के अंगों को ढंकने, सहारा देने और बनाए रखने के काम करती है, खुल जाती हैं। इस ओपनिंग या छेद से पेट की परत या पेट के अंग निकल सकते हैं जो सीधे त्वचा के नीचे महसूस हो सकते हैं। 

 

इंसिजनल हर्निया होने के क्या कारण है?

 

मुख्यतः पेट की सर्जरी के बाद इंसिजनल हर्निया होने का ख़तरा अधिक होता है। आमतौर पर सर्जरी के बाद पेट की दीवार अच्छी तरह से ठीक हो जाती है। परंतु कई बार, पेट की दीवार में लगाया चीरा ठीक नहीं हो पाता जैसा कि इसे होना चाहिए। यह इस बात की और इशारा करता है कि पेट की दीवार जख्मी क्षेत्र के आसपास कमजोर हो जाती है और पेट के दबाव को सह पाने में असमर्थ है। तो इस स्थिति में, यह कमजोर क्षेत्र पेट के ऊतकों, आंतों या अंगों को इस जख्मी क्षेत्र से बाहर निकलने की अनुमति दे सकता है।

 

इंसिजनल हर्निया का निदान कैसे किया जाता है?

 

आपका डॉक्टर इंसिजनल हर्निया का निदान करने के लिए शारीरिक परीक्षण कर सकता है, और इसके लिए आमतौर पर डायग्नोस्टिक परीक्षणों की आवश्यकता नहीं होती है। आपकी शारीरिक जांच के दौरान, आपका डॉक्टर आपको खांसी करने या पेट पर दबाव डालने के लिए कह सकता है ताकि वे हर्निया को महसूस कर सके।

 

छोटे इंसिजनल हर्निया अचानक सकते है और गायब हो सकते हैं। यह हर्निया कुछ क्रियाओं, जो पेट के दबाव को बढ़ाती हैं, जैसे खाँसने, छींकने, शौच करने के लिए जोर लगाने, या किसी भारी वस्तु को उठाने के दौरान स्पष्ट हो सकता है। अगर हर्निया में पेट की दीवार से अधिक पेट के अंग बाहर आते हैं तो इसकी गंभीरता और कौन से अंगों पर प्रभाव पड़ा है, का पता लगाने के लिए अतिरिक्त परीक्षण आवश्यक होते हैं। 

 

इंसिजनल हर्निया का मैनेजमेंट कैसे करते हैं?

 

इंसिजनल हर्निया का उपचार कई कारकों पर निर्भर करता है, जिसमें आपका स्वास्थ्य, हर्निया की रचना, स्थान और फैलाव, के साथ-साथ आप कितनी शारीरिक गतिविधि कर पाते है शामिल हैं। इंसिजनल हर्निया के उपचार में निम्न विकल्प मुख्य हैं:

  • नॉन-सर्जिकल उपचार: कई बार आपका डॉक्टर आपको गद्दीदार पट्टी (truss) पहनने की सलाह दे सकता है। यह एक प्रकार का कपड़ा होता है जो वेट बेल्ट या करधनी के समान होता है और हर्निया पर लगातार दबाव डाल कर रखता है। आमतौर पर, ट्रूस हर्निया का पूर्ण इलाज करने के बजाय सिर्फ़ लक्षणात्मक रूप से ठीक करते हैं। इंसिजनल हर्निया का एकमात्र उपचार सर्जिकल मरम्मत ही होता है।
  • सर्जिकल उपचार: एक इंसिजनल हर्निया को बड़ा होने से रोकने के लिए और बाहर निकले अंगों में रक्त प्रवाह बंद होने के कारण स्ट्रैंगुलेशन होने से रोकने के लिए सर्जिकल मरम्मत की आवश्यकता होती है। इंसिजनल हर्निया में तुरंत सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है यदि:
  • यह समय के साथ बढ़ता है
  • इसका आकार बहुत बड़ा है
  • यह कॉस्मेटिक रूप से दिक़्क़त कर रहा है
  • चाहे आप आराम कर रहे हो या कितनी भी देर लेटे हों, पेट में उभार बना रहता है
  • हर्निया के कारण दर्द महसूस हो रहा है 

 

सर्जिकल मरम्मत की तकनीक को हर्निया के आकार, जटिलता और पुनरावृत्ति की संभावना के आधार पर दो प्रकारों में बाँटा गया है:

 

सरल या कन्वेंशनल तकनीक: - इस सर्जिकल प्रक्रिया में, सर्जन हर्निया के ऊपर पेट की दीवार में एक चीरा लगाता है, और उभरी हुई आंत या अन्य लाइनिंग को वापस धकेल देता है, और मांसपेशियों की दीवार में छेद की मरम्मत कर देता है। बड़े छेद के लिए, मांसपेशियों की दीवार में टांका लगाना पर्याप्त नहीं हो सकता है। तब सर्जन हर्निया के छेद या चीरे को मेश ग्राफ्ट से बंद कर देते हैं। यह मेश ग्राफ्ट कमजोर क्षेत्र को मजबूत करने में सहायता करता है और हर्निया को वापस बनने से रोकता है। एक बार जब यह जाली लग जाती है या मांसपेशियों में मौजूद छेद को सिल दिया जाता है, तो पेट की त्वचा का चीरा बंद कर दिया जाता है। आमतौर पर चीरे को स्टिच करने के लिए घुलनशील टांके का उपयोग किया जाता है। 

 

इस प्रक्रिया की सीमाएँ: - मेश लगाने की सबसे उपयुक्त जगह रेट्रोमस्कुलर स्पेस है। परंतु रेट्रोमस्कुलर राइव्स मेश इम्प्लांटेशन में एक बड़ा नुकसान यह है कि यह सिर्फ़ रेक्टस कंपार्टमेंट में ही लग सकता है। अत्यधिक बड़े हर्निया और पेट की दीवार के बड़े दोषों के मामलों में, रेक्टस कंपार्टमेंट में मेश लगाने पर अपर्याप्त मैश ओवरलैप और सही से ब्रिज नहीं बन पाने जैसी समस्याएँ हो सकती हैं, जिससे भविष्य में दुबारा हर्निया होने का खतरा बढ़ जाता है। कभी-कभी जब इस प्रक्रिया को को पार्श्व पक्षों (lateral sides) तक बढ़ाया जाता है, तो इसके परिणामस्वरूप रेक्टस एब्डोमिनिस मांसपेशी की सेग्मेंटल तंत्रिकाओं में क्षति हो सकती है।

 

एडवांस्ड सर्जिकल तकनीक:- हर्निया के कई ऐसे मामले होते हैं, जहां कन्वेंशनल तकनीक से आराम नहीं मिलता है। इंसिजनल हर्निया के ऐसे मामलों की मरम्मत करने के लिए, डॉक्टर कई उन्नत तकनीकों की सलाह देते हैं। इनमें से सबसे आम प्रक्रिया, कंपोनेंट सेपरेशन तकनीक (CST) होती है। समय के साथ यह CST तकनीक ट्रांसवर्सस एब्डोमिनिस मसल रिलीज़ (टीएआर) प्रक्रिया में प्रगतिशील हो गया है। यह टीएआर प्रक्रिया सबसे एडवांस तकनीक है जो जटिल इंसिजनल हर्नियास के उपचार में पारंपरिक तकनीकों से कई ज़्यादा फायदे प्रदान करती है। 

 

इंसिजनल हर्निया के उपचार के लिए ट्रांसवर्सस एब्डोमिनिस मसल रिलीज़ (टीएआर) तकनीक

 

बहुत बड़े प्राथमिक और इंसिजनल हर्निया के उपचार में कंपोनेंट सेपरेशन तकनीक का विकास किया गया था क्योंकि मस्कुलोफेशियल फ्लैप को आराम दिए बिना पारंपरिक सूचर और मैश तकनीक सही परिणाम नहीं देती है। टीएआर तकनीक पेट की दीवार के पुनर्निर्माण (abdominal wall reconstruction) की एक नई तकनीक है जो जटिल इंसिजनल हर्निया की मरम्मत के लिए पोस्टीरियर कंपोनेंट सेपरेशन तकनीक का एक संशोधित प्रकार है।

 

इसके साथ-साथ, यह आधुनिक टीएआर तकनीक विभिन्न जटिल इंसिजनल हर्निया के लिए एक स्थायी उपचार प्रदान करती है। इनसीजनल हर्निया का बनना एक लगातार बढ़ता हुआ समस्याग्रस्त विषय है जो रोगी और सर्जन दोनों के लिए कठिन चुनौतियाँ पेश करता है। जबकि पारंपरिक पुनर्निर्माण तकनीक आमतौर पर लंबे समय तक चलने वाले परिणाम नहीं देती है, वही ट्रांसवर्सस एब्डोमिनिस रिलीज़ तकनीक जटिल हर्निया के मामलों में एक लंबे समय तक चलने वाला, भरोसेमंद उपचार प्रदान करता है। यह एकमात्र ऐसी तकनीक है जो जटिल इंसिजनल हर्निया का उनके उत्पत्ति के स्रोत पर इलाज करती है। टीएआर तकनीक में प्यूबिस क्षेत्र के मध्य में लंबा चीरा हर्निया को खोलने और उसके किनारों को मुक्त करने में मदद करता है। इसको बंद करते समय, एक रेट्रो-रेक्टस प्लेन बनाया जाता है जिसमें रेक्टस मांसपेशी को आगे से उठा कर लगाया जाता है।

 

किन में ट्रांसवर्सस एब्डोमिनिस मसल रिलीज़ (टीएआर) तकनीक का उपयोग किया जा सकता है?

  • बड़े और जटिल वेंट्रल हर्निया
  • सब्क्सीफ़ाइड (Subxiphoid) हर्निया
  • पैरास्टोमल हर्निया
  • फ्लैंक हर्निया
  • सुप्राप्यूबिक हर्निया
  • रिकरंट हर्निया

 

ट्रांसवर्सस एब्डोमिनिस मसल रिलीज़ (टीएआर) तकनीक के फ़ायदे 

ट्रांसवर्सस एब्डोमिनिस रिलीज़ तकनीक पारंपरिक तकनीकों की तुलना में पेट की जटिल समस्याओं को ठीक करने में कई गुना बेहतर है। इसके कुछ फायदे निम्न हैं:

  • सर्जरी के दौरान होने वाली समस्याओं का कम जोखिम
  • घाव संबंधी कम जटिलताएँ 
  • जटिल इंसिजनल हर्निया की मरम्मत के लिए एक सुरक्षित और प्रभावी तरीका
  • ओपन सर्जरी की तकनीक के लाभों को बनाए रखते हुए हर्निया की अधिक सुरक्षित, अधिक व्यापक मरम्मत करता है।
  • हर्निया के दुबारा होने का कम जोखिम 
  • टीएआर तकनीक बड़े त्वचा के फ्लैप बनने से रोकता है, जिससे परफ़ोरेटर वाहिकाओं के नुकसान से बचा जाता है, इस प्रकार इससे त्वचा के नेक्रोसिस और संक्रमण के जोखिम को कम करता है।
  • यह तकनीक चौड़ाई में 20 सेमी तक पेट की दीवार के दोषों को बंद करने की क्षमता रखती है।
  • यह तकनीक रेट्रो मस्कुलर सबले प्लेन में बहुत बड़े अनकोटेड स्टैंडर्ड मैश को भी आरोपण की अनुमति देता है।

 

टीएआर तकनीक करने के कौन से विभिन्न तरीके हैं?

  • ओपन सर्जिकल तकनीक
  • लैप्रोस्कोपिक टीएआर
  • रोबोटिक टीएआर
  • -टीईपी तकनीक: -टीईपी टीएआर
  • युनीलेटरल टीएआर: या तो ओपन, लैप्रोस्कोपिक, -टीईपी, या रोबोटिक तरीक़े से 

 

टीएआर सर्जरी के बाद: याद रखने योग्य बातें

 

एक इंसिजनल हर्निया की मरम्मत की सर्जरी से उबरने के दौरान इन बातों का ध्यानपूर्वक पालन करना चाहिए:

  • भारी सामान उठाना, ज़ोरदार व्यायाम या ऐसी किसी भी गतिविधि से बचें जो पेट पर दबाव डाल सकती है।
  • अगर आप धूम्रपान करते है तो इसे तुरंत बंद कर दें, क्योंकि ये उपचार को धीमा कर सकता है।
  • अतिरिक्त वजन को कम करें, क्योंकि इससे पेट की दीवार पर दबाव कम होता है।
  • किसी भी मौजूदा चिकित्सा स्थिति जैसे मधुमेह को नियंत्रित रखें।

 

 ट्रांसवर्सस एब्डोमिनिस मसल रिलीज़ (टीएआर) सर्जरी के बाद रिकवरी 

 

अधिकांश व्यक्ति हर्निया की रिपेयर में टीएआर सर्जरी के तीन सप्ताह के भीतर सामान्य गतिविधियों को फिर से शुरू कर सकते हैं। आपको सर्जरी के बाद पहले सप्ताह के दौरान पेट में थोड़ा दर्द महसूस होता रहेगा। टीएआर सर्जरी के दूसरे दिन बाद से व्यक्ति के अंतःशिरा (IV) दर्द की दवाइयाँ बंद कर दी जाती हैं और उन्हें चौथे दिन घर जाने की अनुमति दे दी जाती है। इस समय आपके दर्द कि दवाइयाँ बंद होती हैं और  सर्जरी के 7 दिनों के बाद आप अपने बेसिक गतिविधियाँ कर सकते हैं। इस प्रक्रिया के अल्पकालिक फॉलो-अप में अक्सर रिकरेंस या घाव की जटिलताओं के कोई संकेत नहीं दिखाते हैं। 

 

निष्कर्ष 

 

टीएआर तकनीक इंसिजनल हर्निया की मरम्मत और पेट की दीवार के जटिल दोषों के इलाज का एक प्रभावी इलाज साबित हुई है। इसके साथ-साथ यह रोगियों के अस्पताल में रहने के समय को कम करने, दर्द को कम करने और जल्दी ठीक होने की सुविधा का भी प्रदर्शन किया है।

Medanta Medical Team
Back to top