Facebook Twitter instagram Youtube
अगर-आपक-डकटर-अडशय-हटन-क-लए-ovary-removal-सरजर-क-सलह-दत-ह-त-7-चज-जनक-आपक-जनकर-हन-चहए

अगर आपका डॉक्टर अंडाशय हटाने के लिए (ovary removal) सर्जरी की सलाह देता है तो 7 चीजें जिनकी आपको जानकारी होनी चाहिए

ओवरी रिमूवल सर्जरी, जिसे ऊफ़ोरेक्टोमी भी कहते हैं, एक महिला के एक या दोनों तरफ़ के अंडाशय को हटाने के लिए की गई एक सर्जिकल प्रक्रिया है। डिम्बग्रंथि या अंडाशय (ovary) महिला की प्रजनन प्रणाली का एक हिस्सा है और इसमें अंडे, महिला प्रजनन कोशिका, मौजूद होते हैं। अंडाशय एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन भी स्रावित करते हैं जो महिलाओं के मासिक धर्म चक्र को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाते हैं।

 

ओवरी रिमूवल सर्जरी कब और क्यों की जाती है?

 

डॉक्टर कई मामलों में ऊफ़ोरेक्टोमी की सलाह देते हैं। जैसे, जब एक महिला में बीआरसीए जीन मौजूद होता है, जो स्तन और ओवरी के कैंसर होने के लिए सबसे आम उत्तरदायी जीन है। ऐसे मामलों में महिला के अंडाशय को हटाने से उसे कैंसर होने के खतरे को कम किया जा सकता है। ओवरी रिमूवल सर्जरी द्वारा कैंसर का इलाज भी किया जा सकता है। कई अन्य मामलों में जैसे डिम्बग्रंथि सिस्ट, एब्सेस, बिनाइन ट्यूमर या एंडोमेट्रियोसिस के इलाज के लिए भी इस सर्जरी का उपयोग किया जाता है।

 

ओवरी रिमूवल सर्जरी कैसे की जाती है?

 

रोगी को एनेस्थेटिक देने के बाद, डॉक्टर लैपरोटॉमी या मिनिमली इनवेसिव लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करते हैं। इस शल्य चिकित्सा में, सर्जन अंडाशय तक पहुंचने के लिए रोगी के पेट के निचले हिस्से में एक लंबा चीरा लगाता है। इसके बाद, सर्जन प्रत्येक अंडाशय को उसके चारों ओर उपस्थित ऊतकों और रक्त वाहिकाओं से अलग करता है और ओवरी को हटा देता है।

 

वही दूसरी तरफ़, मिनिमल इनवेसिव लैप्रोस्कोपिक ओवरी रिमूवल सर्जरी में, सर्जन पेट में तीन या चार छोटे चीरे लगाता है। फिर सर्जन एक चीरे के द्वारा एक लेप्रोस्कोप या एक छोटे कैमरे के साथ एक ट्यूब और अन्य चीरों द्वारा शल्य चिकित्सा में काम आने वाले उपकरण पेट के अंदर डालते हैं। कैमरा पेट के अंदर की वीडियो को एक स्क्रीन पर प्रसारित करता है ताकि सर्जन उसके अनुरूप शल्य चिकित्सा उपकरणों का प्रयोग कर सके।

 

इसके बाद, अंडाशय को इसके आस-पास उपस्थित ऊतकों और रक्त वाहिकाओं से अलग किया जाता है और एक थैली में रखा जाता है। थैली को एक छोटे से चीरे द्वारा पेट से बाहर निकाला जाता है।

 

लैप्रोस्कोपिक सर्जरी भी रोबोट की सहायता से भी की जा सकती है। रोबोट-एसिस्टेड सर्जरी सर्जन को 3D में पेट के अंदर अंगों की छवि देखने और हाथ नियंत्रण का उपयोग करने में सक्षम बनाती है जो सर्जिकल उपकरणों के बेहतर संचलन की स्वीकृति देता है।

 

मेरे लिए कौन सी प्रक्रिया सही होगी?

 

ओवरी रिमूवल के लिए तीनों प्रक्रियाओं, लैपरोटॉमी, लेप्रोस्कोपिक सर्जरी, या रोबोटिक-असिस्टेड सर्जरी, में से चुनना मुख्यतः व्यक्ति की स्थिति पर निर्भर करता है। आमतौर पर लैप्रोस्कोपिक या रोबोटिक-असिस्टेड सर्जरी में व्यक्ति को कई फ़ायदे जैसे जल्दी ठीक होने, कम दर्द और कम अस्पताल में रहने की आवश्यकता होते हैं। हालांकि, ये सर्जरी सभी रोगियों के लिए उपयुक्त नहीं हो सकती हैं। कई बार, लैप्रोस्कोपिक के रूप में शुरू होने वाली सर्जरी को ऑपरेशन के दौरान ओपन सर्जरी में परिवर्तित करने की आवश्यकता हो सकती है। 

 

ओवरी रिमूवल प्रक्रिया से जुड़े जोखिम क्या हैं?

 

वास्तव में, ऊफ़ोरेक्टोमी एक अपेक्षाकृत सुरक्षित प्रक्रिया होती है। हालांकि, किसी भी अन्य सर्जिकल प्रक्रिया की तरह, इसमें भी कुछ जोखिम मौजूद होते हैं। जिसमें अत्यधिक रक्तस्राव, संक्रमण, आस-पास के अंगों को नुकसान, एक ट्यूमर का टूटना जो संभावित कैंसर कोशिकाओं के प्रसार का कारण भी बन सकता है, और अंडाशय की कोशिकाओं का शेष रहना जो लक्षण पैदा करना जारी रख सकता, शामिल होते हैं। पर यह ध्यान रखें कि यदि आपका डॉक्टर इस सर्जरी की सलाह दे रहा है तो इसका मतलब है कि इससे जुड़े लाभ जोखिम कारकों से अधिक हैं। 

 

रिकवरी में कितना समय लगता है?

 

रिकवरी समय रोगी की स्थिति पर निर्भर करता है। इसके साथ-साथ, सर्जरी क्यों की गई थी और किस प्रक्रिया का उपयोग किया गया था, पर भी निर्भर करती है। आमतौर पर अधिकांश रोगी सर्जरी के छह सप्ताह के भीतर अपने दैनिक कार्यों को सही तरीक़े से करने में सक्षम हो जाते हैं। मिनिमल-इनवेसिव लेप्रोस्कोपिक या रोबोटिक सर्जरी कराने वाले व्यक्तियों की रिकवरी तुलनात्मक रूप से तेज हो सकती है और सर्जरी के दो दिन बाद ही उन्हें हॉस्पिटल से छुट्टी दी जा सकती है।

 

ओवरी रिमूवल सर्जरी प्रजनन क्षमता को कैसे प्रभावित करती है?

 

एक महिला की प्रजनन क्षमता और ओवरी रिमूवल सर्जरी के बाद वह गर्भवती हो सकती है या नहीं, यह उस महिला की स्थिति पर निर्भर करता है। उदाहरण के लिए, यदि सर्जरी द्वारा उसका केवल एक ही अंडाशय हटाया गया है, तो उसका दूसरा अंडाशय अभी भी एस्ट्रोजेन हॉर्मोन का उत्पादन करेगा, उसे अभी भी मासिक धर्म होगा और वह गर्भवती हो सकती है। 

 

क्या ओवरी रिमूवल सर्जरी से मेनोपॉज जल्दी हो सकता है?

 

महिलाओं में रजोनिवृत्ति तब शुरू होती है जब अंडाशय स्वाभाविक रूप से एस्ट्रोजेन हॉर्मोन का उत्पादन बंद कर देते हैं। भारत में, रजोनिवृत्ति की औसत आयु लगभग 46-49 वर्ष है। यदि रोगी सर्जरी के समय तक प्राकृतिक रजोनिवृत्ति की उम्र तक नहीं पहुंची है और उसके ओवरी रिमूवल सर्जरी की गई है, तो उसके सर्जिकल रजोनिवृत्ति होने की संभावना होती है। 

 

सर्जिकल मेनोपॉज के कारण महिला में मेनोपॉज के लक्षण जैसे हॉट फ़्लैश और योनि में सूखापन दिखायी दे सकते हैं। कई बार, यह अवसाद या चिंता, हृदय रोग, याददाश्त की समस्या, सेक्स ड्राइव में कमी या ऑस्टियोपोरोसिस के बढ़ते जोखिमों का कारण भी बन सकता है।

 

इसीलिए, यह सलाह दी जाती है कि आप अपने डॉक्टर से विभिन्न उपचार विकल्पों के बारे में बात करें जिनका उपयोग आप उपरोक्त लक्षणों से निपटने या उनका इलाज करने के लिए कर सकते हैं।

Medanta Medical Team
Back to top