Facebook Twitter instagram Youtube
मधमह-आहर-5-ऐस-खदय-पदरथ-ज-मधमह-क-नयतरत-करन-म-आपक-मदद-करत-ह

मधुमेह आहार: 5 ऐसे खाद्य पदार्थ जो मधुमेह को नियंत्रित करने में आपकी मदद करते हैं।

किसी व्यक्ति में मधुमेह तब होता है जब उसका शरीर, या तो पर्याप्त इंसुलिन नहीं बना पाता, या उत्पादित इंसुलिन का उपयोग नहीं कर सकता है या इन दोनों कारणों का संयोजन हो सकता है। अंततः, इसके कारण रक्तप्रवाह में शर्करा का संचय होने लग जाता है इसीलिए आहार संबंधी सावधानियाँ मधुमेह के नियंत्रण का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन जाता है। 

 

डायबिटीज में अलग-अलग खाद्य पदार्थों के अलग-अलग असर हो सकते हैं, और अक्सर जो उत्पाद हमें पौष्टिक प्रतीत होता है ज़रूरी नहीं है कि वह मधुमेह के लिए सबसे अच्छा विकल्प हो। जिन व्यक्तियों में रक्त शर्करा के स्तर में उतार-चढ़ाव की समस्या रहती है, उन के लिए भोजन का ग्लाइसेमिक इंडेक्स या जीआई कंटेंट महत्वपूर्ण होता है। किसी भोजन का जीआई स्तर उस दर को मापता है जिस पर भोजन का एक हिस्सा रक्त शर्करा का स्तर बढ़ाएगा, और प्रतीत होता है कि कम जीआई वाले खाद्य पदार्थ मधुमेह रोगियों के लिए सही विकल्प होते हैं।

 

हालाँकि, डायबिटीज को सही तरह से मैनेज करने के लिये एक एकल आहार चार्ट बनाना मुश्किल हो सकता सकता है, लेकिन कुछ डाइट से संबंधित सामान्य दिशानिर्देश हैं जो मधुमेह का नियंत्रण और एक स्वस्थ जीवन शैली सुनिश्चित करने में मदद करते हैं। इसीलिए, उन खाद्य पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करना महत्वपूर्ण है जो रक्त शर्करा में अचानक वृद्धि का कारण नहीं बनेंगे।

 

मधुमेह के लिए उपयुक्त खाद्य पदार्थ 

 

नीचे ऐसे 5 खाद्य पदार्थों की सूची दी गई है जो मधुमेह वाले लोगों के लिए पौष्टिक और अच्छे साबित होते हैं:

 

बिना स्टार्च की सब्ज़ियाँ  - बिना स्टार्च वाली सब्ज़ियों में कम कार्ब्स होते हैं, फिर भी ये भूख को दूर करने और खनिजों, फाइबर, विटामिन और फाइटोकेमिकल्स (यानी सुरक्षात्मक या रोग निवारक गुणों वाले पदार्थ) की पौष्टिक आपूर्ति पूरी करने में बहुत प्रभावी हैं। कुछ नोन-स्टार्ची सब्ज़ियों में  गोभी, गाजर, फूलगोभी, मशरूम, प्याज, ब्रोकोली और शतावरी शामिल हैं। इन सब्ज़ियों में में बहुत कम कैलोरी की मात्रा होती है, इसलिए वे मधुमेह वाले लोगों के लिए आदर्श भोजन विकल्प माने जाते हैं। अमेरिकन डायबिटीज़ एसोसिएशन (एडीए) ने गैर-स्टार्च सब्जियों को कम जीआई इंडेक्स वाला खाद्य पदार्थ सिद्ध किया है। 

 

सेब  - हम सब ने सेब और डॉक्टरों से जुड़ी पुरानी कहावत सुनी है। अच्छी बात यह है कि ये कहावत सत्य है और वास्तव में सेब मधुमेह से भी बचाता है। हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के एक अध्ययन में, 200,000 लोगों के आहार पर नज़र रखी गई और शोधकर्ताओं ने यह पाया कि जिन प्रतिभागियों ने प्रति सप्ताह पांच या अधिक सेब का सेवन किया था, उनमें खाने वाले लोगों की तुलना में टाइप 2 मधुमेह विकसित होने का जोखिम 23% कम था। सेब के बहुत फ़ायदों में एक कम कार्ब्स कंटेंट है। 

 

उच्च फ़ाइबर युक्त सब्ज़ियाँ  - फाइबर से भरपूर सब्ज़ियाँ जैसे मटर, बीन्स और पालक मधुमेह रोगी के लिए एक आदर्श आहार होती हैं। बीन्स प्रोटीन के अच्छे स्रोत होते हैं और विभिन्न शोध में यह पाया गया है कि ये आपके ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करते हैं।  - अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन जर्नल ने यह भी बताया है कि फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ खाने से स्ट्रोक का जोखिम काफ़ी कम हो सकता है और विभिन्न शोधकर्ताओं ने पता लगाया है कि कुल फाइबर आहार में हर 7 ग्राम की वृद्धि पहली स्ट्रोक के जोखिम को 7%  कम कर सकती है। बीन्स के कुछ बेहतरीन विकल्पों में राजमा, चना, और मूंग होते हैं और डॉक्टर यह सलाह देते हैं कि बीन्स के किसी भी प्रकार को अपने भोजन में प्रोटीन के मुख्य स्रोत के रूप में हर सप्ताह कम से कम एक या दो बार शामिल करना फ़ायदेमंद होता है।

 

हरी-पत्तेदार सब्ज़ियाँ - हम सभी को यह पता है कि हरी पत्तेदार सब्जियाँ आहार में एक बेहद स्वस्थ विकल्प होती हैं। लेकिन, बहुत कम ही लोग इसका सही कारण जानते हैं। सबसे पहले, इनमें सुपाच्य (digestive) कार्ब्स की मात्रा बहुत कम होती हैं, जिससे ये रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करती हैं और उन्हें मधुमेह रोगियों के लिए सही विकल्प बनाते हैं। इसके अतिरिक्त, हरि सब्ज़ियाँ विटामिन का एक बड़ा स्रोत होती हैं, विशेष रूप से विटामिन सी, जो टाइप 2 मधुमेह या उच्च रक्तचाप वाले लोगों के लिए इंफ्लेमेटरी मार्कर और फ़ास्टिंग ब्लड शुगर स्तर को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। मधुमेह के इलावा, इनकी एंटीऑक्सीडेंट गुणों ने उन्हें अधिकांश आधुनिक आहारों में एक आम पसंद बना दिया है।

 

भारत में, स्वस्थ पत्तेदार सब्ज़ियों की कोई कमी नहीं है और पालक और मेथी उन लोगों के लिए एक बढ़िया चुनाव है जो अपनी थाली में कुछ हरा भोजन जोड़ना चाहते हैं।

 

अंडे - अंडा उच्च प्रोटीन का स्रोत होने के साथ-साथ, मधुमेह रोगियों के लिए एक अच्छा खाद्य विकल्प हैं। इसके मुख्य लाभों में इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार, एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में वृद्धि (अच्छा कोलेस्ट्रॉल), और एलडीएल कोलेस्ट्रॉल (खराब प्रकार) के आकार और रचना को परिवर्तित करना शामिल है। इसके अलावा, एक औसतन आकार के अंडे में 77 कैलोरी, 6 ग्राम प्रोटीन और 5 ग्राम स्वस्थ वसा होती है। अंडे के सबसे अच्छे फ़ायदों में से एक यह है कि वे आपको घंटों तक पेट भरा होने का एहसास कराये रखते हैं, इस प्रकार आपको बार-बार जंक फ़ूड खाने की इच्छा नहीं होती है। अधिकतर डॉक्टर पूरा अंडा खाने की सलाह देते हैं। अंडे की सफेदी से कहीं अधिक इसका योक पोषक तत्वों का मुख्य स्रोत होता है।

 

नट्स - नट्स मधुमेह आहार के लिए एक और बढ़िया खाद्य पदार्थ साबित हुए हैं क्योंकि इनमें प्रोटीन, विटामिन, असंतृप्त वसा और खनिज भरपूर मात्रा में होते हैं; जो आपमें कोलेस्ट्रॉल, सूजन और इंसुलिन प्रतिरोधता को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। शोध बताते हैं कि अगर आप अपने दैनिक आहार में 50 ग्राम बादाम, काजू या अखरोट शामिल करें, तो इससे वसा और शर्करा के उच्च स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है।

 

अतः संक्षिप्त रूप में, मधुमेह से ग्रसित व्यक्तियों को अपने आहार में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा सीमित करनी चाहिए और ऊपर बताये गये खाद्य पदार्थों को अपने भोजन और स्नैक्स में जगह देनी चाहिए। इसके अतिरिक्त, अन्य खाद्य विकल्पों में खरबूजे, अलसी के बीज या पानी से परिपूर्ण स्वस्थ सब्जियाँ जैसे ककड़ी या नींबू शामिल हैं।

Medanta Medical Team
Back to top