Facebook Twitter instagram Youtube
कय-आपक-उचच-कलसटर

क्या आपको उच्च कोलेस्ट्रोल है? तो अपने डॉक्टर से ये 6 सवाल पूछें।

कोलेस्ट्रॉल मनुष्य शरीर की कार्य क्षमता को सुचारू रूप से चलाने के लिए आवश्यक होता है, और यह पशु स्रोतों जैसे मांस से प्राप्त किया जाता है, लेकिन यकृत द्वारा भी इसे सक्रिय रूप से उत्पन्न किया जाता है और यह विभिन्न कार्यों को पूर्ण करता है, जिसमें विटामिन डी का निर्माण, हार्मोन उत्पन्न करना, और पाचन में मदद करना शामिल है। कोलेस्ट्रॉल दो प्रकार का होता है: अच्छा और खराब कोलेस्ट्रॉल। खराब कोलेस्ट्रॉल की उच्च मात्रा गंभीर हृदय संबंधी समस्याओं का कारण बन सकती है।

 

यदि आपको उच्च कोलेस्ट्रॉल डायग्नोज़ हुआ है, तो यह महत्वपूर्ण है कि आप इनसे संबंधित अपने जोखिम कारकों को समझें, और कोलेस्ट्रॉल को कम करने और इसे नियंत्रण में रखने के उपायों के बारे में जानकारी रखें। नीचे कुछ प्रश्न हैं जिन्हें आपको कोलेस्ट्रॉल से संबंधित अपने डॉक्टर से पूछना चाहिए:

 

1. कोलेस्ट्रॉल स्तर क्या होता हैं और क्या मेरा कोलेस्ट्रॉल स्तर सीमा पर या खतरनाक उच्च हैं?

 

एक कोलेस्ट्रॉल परीक्षण या लिपिड प्रोफाइल आपके खून में उपस्थित चार घटकों को मापता है, जिसमें कुल कोलेस्ट्रॉल, अच्छा कोलेस्ट्रॉल (हाई-डेंसिटी लिपोप्रोटीन्स या एचडीएल), खराब कोलेस्ट्रॉल (लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन्स या एलडीएल), और ट्राइग्लिसराइड्स शामिल होते हैं। एक स्वस्थ वयस्क के रूप में, आपको निम्नलिखित स्तरों पर ध्यान देना चाहिए:

  • कुल कोलेस्ट्रॉल: 200 मिलीग्राम प्रति डेसिलीटर (मिलीग्राम/डीएल) से कम
  • एलडीएल: 100 मिलीग्राम/डीएल से कम स्वस्थ माना जाता है, हालांकि 100 से 129 मिलीग्राम/डीएल के बीच का स्तर भी स्वीकार्य हो सकता है
  • एचडीएल: यह अच्छा कोलेस्ट्रॉल होता है क्योंकि यह शरीर में मौजूद अतिरिक्त खराब कोलेस्ट्रॉल को हटाने में मदद करता है। 60 मिलीग्राम/डीएल से अधिक स्तर आदर्श माप होता है। हालाँकि, 40 मिलीग्राम/डीएल से कम एचडीएल का स्तर हृदय रोग की एक शुरुआती संकेत हो सकता है।
  • ट्राइग्लिसराइड्स: 200 मिलीग्राम प्रति डेसिलीटर (मिलीग्राम/डीएल) से कम

 

2. मेरे कोलेस्ट्रॉल स्तर के साथ, क्या दवाइयों की आवश्यक होगी?

 

आपके डॉक्टर सामान्यतः आपको व्यायाम और कुछ आहार संबंधित जीवनशैली परिवर्तनों की सलाह देंगे। परंतु, यदि आपके कोलेस्ट्रॉल स्तर उच्च हैं, तो इसे नियंत्रित करने के लिए दवाएँ भी आवश्यक होती हैं। इन्हें लेने से पहले डॉक्टर से यह सुनिश्चित करें कि आपको इन दवाओं का उपयोग कितने समय के लिये करना है और इनके क्या दुष्प्रभाव हो सकते हैं। यह भी जाने कि ऐसे कोई विटामिन या सप्लिमेंट उपलब्ध हैं जो इन दवाओं के दुष्परिभाव को कम कर सकें। कुछ मरीज़ वैकल्पिक उपचारों की खोज करना पसंद करते हैं, जिसके बारे में भी आप डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

 

3. मुझे अपने कोलेस्ट्रॉल स्तर की कितनी बार जांच करानी चाहिए? 

 

अधिकांश डॉक्टर 21 साल की उम्र से शुरू करके हर 5 साल में एक बार आपको कोलेस्ट्रॉल के स्तर की जांच करवाने की सलाह देते हैं। हृदय रोग, धूम्रपान, मोटापा, मधुमेह और इसी तरह के कुछ दीर्धकालीन बीमारियों के पारिवारिक इतिहास जैसे जोखिम वाले कारकों वाले व्यक्तियों को अधिक बार जांच करवाने पर विचार करना चाहिए। यह समझने के लिए कि आपके लिए क्या उचित है, अपने डॉक्टर से सलाह लें।

 

4. मेरे उच्च कोलेस्ट्रॉल के खतरे के कारक क्या हैं?

 

कुछ कारक जैसे उच्च कोलेस्ट्रॉल का पारिवारिक इतिहास, बुढ़ापा, मोटापा, और निष्क्रिय जीवनशैली आपके उच्च कोलेस्ट्रॉल के खतरे को काफी गुणा बढ़ा सकते हैं। मधुमेह भी खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाने के साथ-साथ अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करके आपके इस स्थिति के खतरे को बढ़ा सकता है।

 

महिलाओं में, मेनोपॉज़ के समय होने वाले इस्ट्रोजेन हॉर्मोन में कमी से उच्च कोलेस्ट्रॉल के खतरे में वृद्धि हो सकती है। अपने डॉक्टर के साथ मिलकर यह सुनिश्चित करें कि क्या आपमें कुछ रिस्क कारक एक साथ उपस्थित हैं। एक बार इनकी पहचान हो जाये तो उन्हें आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है।

 

5. कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखने के लिए जीवनशैली में कौन से परिवर्तन आवश्यक होते हैं?

 

एक स्वस्थ आहार खाने और नियमित व्यायाम करने से आप अपने कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रख सकते हैं। उच्च कोलेस्ट्रॉल से बचने के लिए आपके भोजन में ऐसे खाद्य पदार्थ शामिल होने चाहिए जो हेल्दी वसा से भरपूर हो, जिसमें मूंगफली, एवोकाडो, और मछली, साथ ही साबुत अनाज, सेब, केले, और दालों जैसे फाइबर वाले खाद्य पदार्थ शामिल होते हैं। इसके साथ-साथ जिन खाद्य पदार्थों में खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है, जैसे मांस, उनसे परहेज करना ही कोलेस्ट्रॉल के लिए बेहतर होता है। इसके अलावा, अपने नमक के सेवन को भी सीमित करें।

 

धूम्रपान और शराब पीने से बचना और नियमित व्यायाम करना आपके वजन नियंत्रित करने और धमनियों को स्वस्थ रखने में मदद करता है। अधिकांश डॉक्टर रोजाना कम से कम 30 मिनट के मध्यम व्यायाम की सलाह देते हैं। यदि धूम्रपान छोड़ने के लिए पेशेवर सहायता की आवश्यकता महसूस हो तो, बिना संकोच किए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

 

6. यदि मैं अपने कोलेस्ट्रॉल स्तर पर नियंत्रण नहीं रख पाता हूँ तो क्या हो सकता है?

 

रक्त में कोलेस्ट्रॉल का उच्च स्तर शरीर के लिए खतरनाक हो सकता है क्योंकि ये धमनियों की दीवारों पर प्लाक के संचय का कारण बनता हैं। इसे एथेरोस्क्लेरोसिस भी कहते हैं, धमनियों के अंदर यह अवरोध शरीर के अंदर रक्त प्रवाह को बाधित कर सकता है, जिससे एंजाइना (सीने में दर्द), हार्ट अटैक, या स्ट्रोक का ख़तरा हो सकता है। ध्यान दें कि आपको उच्च कोलेस्ट्रॉल का पता तब तक नहीं चलेगा जब तक आप इससे संबंधित रक्त परीक्षण नहीं करवाएंगे। कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर होने पर कोई दृश्यमान लक्षण नहीं दिखते हैं। नियमित परीक्षणों की मदद से आपके कोलेस्ट्रॉल स्तर पर नजर रखने की सलाह दी जाती है।

 

This blog is a Hindi version of an English-written Blog - Have High Cholesterol? Ask Your Doctor These 6 Questions.

Medanta Medical Team
Back to top