Facebook Twitter instagram Youtube
कडन-कसर-क-7-सकत-जनक

किडनी कैंसर के 7 संकेत जिनके बारे में आपको जानना चाहिए

किडनी दो सेम की आकृति वाले, मात्र एक मुट्ठी के आकार के अंग होते हैं जो प्रतिदिन एक बड़े नहाने के टब जितने रक्त को छानने में सक्षम होते हैं। वे हमारी कार्यप्रणाली को सुचारू रूप से चलाने के लिए इतने महत्वपूर्ण हैं कि हमारे शरीर में एक 'अतिरिक्त' किडनी होती है, हालांकि हम एक किडनी के साथ सामान्य रूप से जीवन जी सकते हैं।

 

रेनल सेल एडेनोकार्सिनोमा (जिसे आमतौर पर किडनी कैंसर भी कहते है) दुनिया में शीर्ष 10 कैंसर में से एक है। इसकी शीघ्र पहचान करने से उपचार के सकारात्मक परिणाम हो सकते हैं। यदि आपने या आपके परिवार के सदस्यों ने निम्नलिखित लक्षणों में से किसी को भी महसूस किया है, तो उन्हें नज़रअंदाज़ करें और तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

 

किडनी कैंसर के 7 छिपे हुए संकेत

 

  • मूत्र में रक्त (हेमेचुरिया) - यह सबसे आम लक्षण है और पेशाब का थोड़ा सा लाल होना भी एक संकेत है कि किडनी में कुछ सही नहीं है। ज़रूरी नहीं है कि यह लक्षण कैंसर की वजह से हो, यह किसी संक्रमण के कारण भी हो सकता है, इसीलिए मूत्र में रक्त की उपस्थिति होने पर इसकी तुरंत जाँच होनी चाहिए।
  • पेट में गाँठ महसूस होना  - यह एक बहुत सामान्य लक्षण है, यह गाँठ पेट के किसी भी क्षेत्र में (आगे या पीछे) महसूस हो सकती है और त्वचा के नीचे एक कठोर, घना उभार जैसा अनुभव होता है। यह किडनी कैंसर का एक आम लक्षण होता है, लेकिन यह कैंसर के आरंभिक स्टेज में नहीं दिखता है।
  • निचली पीठ में दर्द - हालाँकि अप्राकृतिक दर्द और तकलीफें आमतौर पर बढ़ती उम्र का एक सामान्य हिस्सा होती हैं, लेकिन कभी-कभी यह किडनी कैंसर का एक संकेत भी हो सकती हैं। पीठ के निचले या साइड में दर्द किडनी कैंसर के लेट स्टेज के लक्षण हो सकते हैं।किसी भी निष्कर्ष पर पहुँचने से पहले यह जानना आवश्यक होता है कि यह दर्द किसी साधारण मांसपेशी दर्द तो नहीं है। बल्कि यह एक तेज़ चाकू चुभने जैसा दर्द होता है जो कई दिनों तक हल्के दर्द के रूप में स्थायी रूप से बना रह सकता है।
  • भूख की कमी और अचानक वजन में कमी आना  - भूख की अचानक कमी या अचानक वजन कमी किसी एडवांस कैंसर के चेतावनी संकेत हो सकते हैं। किडनी कैंसर के मामले में, यह लक्षण इस बात का संकेत दे सकता है कि कैंसर शरीर के अन्य हिस्सों में फैल गया है।
  • एनीमिया और थकान - किडनी शरीर को लाल रक्त कोशिकाओं का उत्पादन करने की सूचना देने का कार्य करती हैं। यदि किडनी में ट्यूमर मौजूद है, तो आरबीसी के बनाने की सूचना संचारित नहीं होती है, जिसके कारण इनका उत्पादन कम होता है, जिससे एनीमिया हो सकता है। जिसके कारण आपको थकान महसूस हो सकती है। हालांकि, कैंसर की वजह से थकान सामान्य थकान की तरह नहीं होती है। इसमें आपको बहुत कमजोर महसूस होती है, यह रात की अच्छी नींद के बाद भी आपको बिना ऊर्जा के साधारण काम करने की अनुमति नहीं देता है। इस प्रकार असामान्य थकान महसूस होने पर चिकित्सक से परामर्श करें।
  • स्क्रोटम में सूजन - पुरुषों को अपने स्क्रोटम की धमनियों में अचानक सूजन महसूस होती है (जिसे वेरीकोसेल कहते हैं) यह किडनी के ट्यूमर के कारण हो सकती है जो स्क्रोटम के रक्त प्रवाह पर प्रभाव डाल सकती है।
  • बार-बार बुखार आना  - बुखार जिसमें फ्लू के लक्षण नहीं दिखते, लेकिन यह कुछ हफ्तों तक रहता है, ऐसा बुख़ार किडनी कैंसर का एक संकेत हो सकता है और आपको इसे टेस्ट कराना चाहिए।

 

जब कैंसर शरीर के अन्य हिस्सों में फैल जाता है, तो प्रभावित अंगों के आधार पर अन्य लक्षण जैसे खांसी में रक्त, हड्डियों में दर्द, सांस लेने में कठिनाई भी हो सकते हैं।

Medanta Medical Team
Back to top